Sunday, March 17, 2013

कानून सब के लिए

लघु कथा
                   

                       कानून सब के लिए
                                                                           
                                                                        पवित्रा अग्रवाल
         
         सिटी मेयर की गाड़ी का चालान हो गया क्यों कि रेड लाइट होने पर भी उनकी गाड़ी सिगनल पर नहीं रुकी  थी।
         चालान काटने पर उनका ड्राइवर अकड़ता हुआ बोला -- "तुम्हे चालान काटना बहुत मंहगा पड़ेगा , जानते हो यह किस की गाड़ी है ?'
      "किसी की भी हो ,कानून सब के लिए एक है । अभी या बाद में तुम्हें सौ रुपए का जुर्माना तो भरना  ही पड़ेगा।'
      पीछे बैठे आदमी ने ड्राइवर को डाँटते हुए कहा --"ड्राइवर क्या बात है...एक तो तुमने रूल तोड़ा है ऊपर से मेरा नाम लेकर उसे धमका रहे हो ...तुम्ही लोग हमें बदनाम करते हो ...यह सौ रुपय अपनी जेब से तुम दो और आगे से इस तरह की गलती नहीं होनी चाहिये  ।'


--
-पवित्रा अग्रवाल

No comments:

Post a Comment