Monday, August 5, 2013

दूरदर्शी

लघु कथा                         
                    दूरदर्शी  
                            पवित्रा अग्रवाल
   
     "सर इस बार अपने भव्य समारोह  के लिए आप किस उद्योगपति को बुला रहे हैं ?'
      "इस वर्ष किसी उद्योगपति को नहीं, सेंट मेरी स्कूल की प्रिन्सपल को बुलाने का इरादा  है ।'
      "क्यो सर हर वर्ष तो आप किसी ऐसे व्यक्ति को बुलाते थे जो अच्छा डोनेशन दे जाता था,इस बार   प्रिन्सपल को क्यों ?..वहाँ तो डोनेशन लेने की परम्परा है,देने की नहीं ।'
     "अरे हम भी तो डोनेशन न देने वालों में से हैं... अगले वर्ष अपने परिवार के एक बच्चे का  एडमीशन मुझे उन्हीं के स्कूल में कराना है,अब समझ में आया कुछ ?'
      "जी सर, समझ गया ।' 

   ईमेल  -- agarwalpavitra78@gmail.com


--
-पवित्रा अग्रवाल

No comments:

Post a Comment