Saturday, November 2, 2013

भगवान सब देखता है


लघु कथा
                         
  भगवान सब देखता है                                                                        
                                                                        
                                                                              पवित्रा अग्रवाल
         मंदिर से लौट कर दादी ने बताया--"क्या कल युग आ गया है, चोर भगवान को भी नहीं  छोड़ते।'
        नन्हें राहुल ने पूछा - "क्या हुआ दादी ?'
       "बेटा रात को मंदिर में चोरी हो गई, भगवान के सारे गहने चले गए ।'
 ' चोरों को भी और कोई नहीं मिला,चोरी भी की तो भगवान के गहनों की...  बेवकूफ      कहीं के,अब तो वह जरूर पकड़े जाएगे ।'
     दादी  चौंकीं "वो कैसे  राहुल ?'
    'दादी, आप ही तो कहती हैं कि गलत काम नहीं करना चाहिए,भगवान सब देखता है,
    अपने गहने चोरी होते समय भगवान ने चोरों को नहीं देखा होगा क्या ?'
     ' हाँ बेटा भगवान सब देखता तो है पर वह   बोल तो नहीं सकता ।'

-पवित्रा अग्रवाल
 ईमेल - agarwalpavitra78@gmail,com
 मेरे ब्लॉग --

4 comments:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
    --
    आपको और आपके पूरे परिवार को दीपावली पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ।
    स्वस्थ रहो।
    प्रसन्न रहो हमेशा।

    ReplyDelete
  2. Nice post.If you like hindi story to read then visit this link.

    Real stories in Hindi


    ReplyDelete
    Replies
    1. This comment has been removed by the author.

      Delete
    2. धन्‍यवाद यहॉं आने व पसन्‍द करने के लिए ।

      Delete