Saturday, April 6, 2013

अशुभ दिन

लघु कथा
                          अशुभ दिन

                                                             पवित्रा  अग्रवाल 

         ससुराल आई बहू ने सास से कहा ---" मम्मी जी अगले महीने की सात तारीख को गृह प्रवेश करने का प्रोग्राम है।आपको यह तारीख सूट तो करेगी न ?'
       "अरे बहू तुझे इतनी भी समझ नहीं है....अगले सप्ताह से पितृ पक्ष शुरू हो रहे हैं...उन दिनो गृह प्रवेश कैसे हो सकता है ?'

      "पर क्यों माँजी ?'
      "अरे यह श्राद्धों के दिन होते हैं...इन दिनों कोई शुभ काम नहीं किए जाते। ...अंग्रेजी पढ़ लिख कर तुम लोग भी अंग्रेज हो गए हो...भूल गए हो अपनी परम्पराओं को ।'
      सास की बात सुन कर बहू का मुँह ऐसे मुरझा गया जैसे बिना पानी के पौधे। दूसरे ही पल उसे याद आया कि उन्ही दिनो देवरानी भी माँ बनने वाली है।...वह मुस्कुरा कर देवरानी से बोली -- "मधु इन अशुभ दिनों में तुम को भी बच्चे को जन्म देने का शुभ काम नहीं करना चाहिए।'


   
     पवित्रा अग्रवाल

      http://bal-kishore.blogspot.com/
      http://laghu-katha.blogspot.com/