Friday, June 6, 2014

खतरा

लघु कथा   

                       खतरा
                                                                 
                                                   पवित्रा अग्रवाल


 दहेज में कार ले कर आई पत्नी ने अपने पति से कहा "सुनो हम भी  एक ड्राइवर रखलें ?'
    "तुम्हारे घर में कई कारें थीं,तुमने कार चलाना क्यों नही सीखा ?'
     "कई कारें थीं तो कई ड्राइवर भी तो थे...कार चलाना सीखने की कभी जरूरत ही महसूस नही हुई...फिर भी मैं ने सीखनी चाही थी  पर पापा मम्मी ने नहीं सीखने दी ."

       क्यों ?
      "भाई ने सीखी थी। एक बार उसका एक्सीडेंट हो गया ...ये समझो कि वह मरते मरते बचा था,     बस  तब से उस की ड्राइविंग पर भी पाबंदी  लगा दी गई थी और मुझे भी सिखाने से मना कर दिया  गया  ।'
        "एक्सीडेंट क्या ड्राइवर से नही हो सकता ?'
        "हो तो सकता है किन्तु खतरा  अक्सर आगे बैठने वाले को ही होता है,हाथ-पैर टूटेंगे या मरेगा तो ड्राइवर  मरेगा ।'


 
 ईमेल - -- agarwalpavitra78@ gmail.com

मेरे ब्लोग्स --